Saturday, May 6, 2017

शादी में मोर जैसी कार सजाकर लाया तो दंबंगो ने दलित दूल्हे संग बारातियों को भी पीटा

 इन दबंगों ने शादी की वीडियोग्राफी कर रहे कैमरा मैन का कैमरा भी तोड़ दिया


शादी में मोर जैसी कार सजाकर लाया तो दंबंगो ने दलित दूल्हे संग बारातियों को भी पीटासांकेतिक तस्वीर
यहां समीपस्थ ग्राम देरी में दलित दूल्हा को मोर के लुक में सजी कार पर सवार देखकर दबंग भड़क गये और उन्होंने दूल्हा सहित सात बरातियों की पिटाई कर दी। छतरपुर के ओरछा रोड थाना प्रभारी रामेश्वर दयाल ने बताया कि बसंत लाल बंसल की बेटी प्रियंका का विवाह महाराजुर के बाबूलाल बंसल के बेटे प्रकाश के साथ गुरुवार रात हो रहा था। दूल्हे की मोर लुक में सजी कार से गांव में बरात जा रही थी, तभी गांव के दंबगों ने बरात को रोका। उन्होंने कहा कि जब दलितों ने इसका विरोध किया, तो अरविन्द सिंह, अखंड सिंह, पिन्टू विश्वकर्मा और पृथ्वी सिंह ने इनके साथ मारपीट कर दी, जिससे दूल्हे सहित सात लोगों को मामूली चोटें आई हैं।
दयाल ने बताया कि इन दबंगों ने शादी की वीडियोग्राफी कर रहे कैमरा मैन का कैमरा भी तोड़ दिया। उन्होंने कहा कि घटना की खबर लगते ही पुलिस मौके पर पहुंची और एक आरोपी पृथ्वी सिंह को गिरफ्तार कर लिया, जबकि तीन आरोपी फरार हो गये। दयाल ने बताया कि ओरछा रोड थाना पुलिस ने चारों आरोपियों के खिलाफ अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (एससी-एसटी) एक्ट के तहत धारा 341, 294, 323, 427 एवं 506 के तहत मामला दर्ज कर लिया है और बाकी आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

Source: (http://www.jansatta.com/rajya/madhya-pradesh/bhopal/dalit-bride-and-his-relative-beaten-up-for-decorated-car-in-madhya-pradesh/317021/?utm_source=JansattaHP&utm_medium=referral&utm_campaign=jaroorpadhe_story)

Saturday, April 29, 2017

लड़की के फेरे कराने से पंडितों ने किया इंकार, वजह काफी शर्मसार करने वाली है

+
hindu priest refused to do marriage of dalit girl at hisar

हिन्दू शादी

देश में एक बेटी के साथ शादी के वक्त शर्मनाक घटना, वो भी पंडितों ने की। उन्होंने उसके फेरे कराने से इंकार कर दिया। इसके पीछे की वजह चौंकाने वाली। घटना हरियाणा के हिसार की है।

बिडमड़ा गांव में पंडितों ने दलित परिवार की बेटी के फेरे कराने से इनकार कर दिया, जिसके बाद दलित परिवार ने बौद्ध धर्म के तरीके से लड़की की शादी कराई। गांव की रविदास सभा ने फैसला लिया कि आगे भी बौद्ध धर्म के तरीके से शादी कराएंगे।
गांव बिडमड़ा में 24 अप्रैल को दलित परिवार के मूर्ताराम की बेटी की शादी थी। परिवार ने पंडितों से संपर्क किया तो एक पंडित ने शादी कराने से इनकार कर दिया। उसने कहा कि मैं थका होने के कारण शादी नहीं करा सकता। दूसरे पंडित ने कहा कि मेरे पास काफी काम हैं। तीसरे ने कहा कि मैंने शादी कराई तो समाज के लोग मुझे जीने नहीं देंगे।
Source:http://www.amarujala.com/uttar-pradesh/mathura/crime/dalit-man-murdered-in-mant-area-of-mathura

मथुरा के मांट में दलित की गोली मारकर हत्या

+
dalit man murdered in mant area of mathura

अस्पताल में ले जाया गया शवPC: अमर उजाला

मथुरा के कस्बा मांट राजा के रहने वाले दलित किसान की शनिवार शाम को गोलीमार कर हत्या कर दी गई। वारदात को बाइक पर आए पांच हमलावरों ने अंजाम दिया। घटना के दौरान किसान अपने खेत पर बने ट्यूबवेल के कमरे पर प्लास्टर करा रहा था। हत्या की वजह अभी तक साफ नहीं हो पाई है। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। 
बताया गया है कि मांट राजा निवासी दलित किसान रामबाबू पुत्र वासुदेव शनिवार को खेत पर बने ट्यबवेल के कमरे का प्लास्टर करा रहे थे। उसी दौरान बाइक पर आये पांच से अधिक हमलावरों ने गोली मार कर हत्या कर दी और मौके से फरार हो गए। मृतक के बेटे बनवारी ने बताया कि वह अपने पापा के साथ खेत पर काम रहे थे। शाम को करीब पांच बजे वह मजदूर के साथ बाजार में जाल लेने के लिए आए थे। जब लौट कर खेत पर पहुंचे तो पिता के गोली लगी हुई थी और वह खून से लथपथ थे।

बनवारी ने पिता से पूछा कि तो पिता ने केवल एक अंगुली उठाई और इसके बाद दम तोड़ दिया।  बनवारी आनन-फानन में पिता को मांट सीएचसी ले गए जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। रामबाबू के खेत के पड़ौसी जयपाल सिंह ने बताया की गोली चलने की आवाज सुनते ही वह घटनास्थल की तरफ दौड़े तो दो बाइकों पर पांच लोग भागते नजर आए। उनकी पहचान नहीं हो सकी। इधर सूचना मिलते ही मांट पुलिस मौके पर पहुँच गई और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक के बेटे के किसी रंजिश से इनकार किया है। पुलिस घटना की वजह पता करने में जुटी है।

Source:http://www.amarujala.com/uttar-pradesh/mathura/crime/dalit-man-murdered-in-mant-area-of-mathura

दलित की बेटी की शादी में बैंड-बाजा देख भड़के दबंग, कुंए में मिलाया मिट्टी का तेल

23 अप्रैल को माणा गांव में रहने वाले चंदेर मेघवाल की बेटी की शादी थी, जिसमें बैंड-बाजे का इंतजाम किया गया था। इसके विरोध में गांव में रहने वाले दबंगों ने बैंडबाजे का उपयोग करने को लेकर चेतावनी जारी की गई थी।

गांव में दलितों के एकमात्र कुंए के पानी में दबंगों ने केरोसिन मिला दिया। (Photo Source: Videograb)

मध्य प्रदेश के आगर मालवा जिले के माणा गांव में एक दलित को बेटी की बारात का स्वागत बैंडबाजे से करना भारी साबित हुआ। गांव के दंबगों द्वारा इसका विरोध किया था, लेकिन उसने इस फैसले को मानने से मना कर दिया है और धूमधाम से बेटी की शादी के लिए आई बारात का स्वागत किया। यह सब पुलिस प्रशासन की मौजूदगी में हुई। दबंगों पर आरोप है कि बात नहीं मानने पर बदला लेने के लिए दलितों द्वारा इस्तेमाल किए जाने कुंए के पानी में केरोसिन ऑयल (मिट्टी का तेल) मिला दिया। यह घटना मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से 200 किलोमीटर दूर स्थित गांव में घटित हुई। केरोसिन के कारण कुंए का पानी पीने लायक नहीं बचा था, जिसके बाद एक पंप का इस्तेमाल करके दूषित पानी को बाहर निकाला गया।
23 अप्रैल को माणा गांव में रहने वाले चंदेर मेघवाल की बेटी की शादी थी, जिसमें बैंड-बाजे का इंतजाम किया गया था। इसके विरोध में गांव में रहने वाले दबंगों ने बैंडबाजे का उपयोग करने को लेकर चेतावनी जारी की गई थी। उन्होंने चेतावनी दी थी अगर बैंडबाजे का इस्तेमाल किया गया तो उनका सामाजिक बहिष्कार किया जाएगा। गांव की परपंरा के मुताबिक इस गांव में दलितों को बारात का स्वागत करने के लिए सिर्फ ‘ढोल’ की अनुमति है। इसके बाद मेघवाल ने इसकी शिकायत पुलिस और प्रशासन से की। जिसके बाद पुलिस सुरक्षा में उनकी बेटी की शादी पूरे रीति-रिवाज से बैंडबाजे के साथ संपन्न हुई। जिसका बात का बदला लेने के लिए दलितों के कुंए के पानी में केरोसिन डाल दिया गया।

Source:http://www.jansatta.com/rajya/madhya-pradesh/bhopal/goons-pour-kerosene-in-dalits-well-in-revenge-in-madhya-pradesh/311836/?utm_source=JansattaHP&utm_medium=referral&utm_campaign=jaroorpadhe_story

http://timesofindia.indiatimes.com/city/indore/dalits-well-polluted-with-kerosene-after-ignoring-upper-caste-diktat/articleshow/58438795.cms