Saturday, April 29, 2017

दलित की बेटी की शादी में बैंड-बाजा देख भड़के दबंग, कुंए में मिलाया मिट्टी का तेल

23 अप्रैल को माणा गांव में रहने वाले चंदेर मेघवाल की बेटी की शादी थी, जिसमें बैंड-बाजे का इंतजाम किया गया था। इसके विरोध में गांव में रहने वाले दबंगों ने बैंडबाजे का उपयोग करने को लेकर चेतावनी जारी की गई थी।

गांव में दलितों के एकमात्र कुंए के पानी में दबंगों ने केरोसिन मिला दिया। (Photo Source: Videograb)

मध्य प्रदेश के आगर मालवा जिले के माणा गांव में एक दलित को बेटी की बारात का स्वागत बैंडबाजे से करना भारी साबित हुआ। गांव के दंबगों द्वारा इसका विरोध किया था, लेकिन उसने इस फैसले को मानने से मना कर दिया है और धूमधाम से बेटी की शादी के लिए आई बारात का स्वागत किया। यह सब पुलिस प्रशासन की मौजूदगी में हुई। दबंगों पर आरोप है कि बात नहीं मानने पर बदला लेने के लिए दलितों द्वारा इस्तेमाल किए जाने कुंए के पानी में केरोसिन ऑयल (मिट्टी का तेल) मिला दिया। यह घटना मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से 200 किलोमीटर दूर स्थित गांव में घटित हुई। केरोसिन के कारण कुंए का पानी पीने लायक नहीं बचा था, जिसके बाद एक पंप का इस्तेमाल करके दूषित पानी को बाहर निकाला गया।
23 अप्रैल को माणा गांव में रहने वाले चंदेर मेघवाल की बेटी की शादी थी, जिसमें बैंड-बाजे का इंतजाम किया गया था। इसके विरोध में गांव में रहने वाले दबंगों ने बैंडबाजे का उपयोग करने को लेकर चेतावनी जारी की गई थी। उन्होंने चेतावनी दी थी अगर बैंडबाजे का इस्तेमाल किया गया तो उनका सामाजिक बहिष्कार किया जाएगा। गांव की परपंरा के मुताबिक इस गांव में दलितों को बारात का स्वागत करने के लिए सिर्फ ‘ढोल’ की अनुमति है। इसके बाद मेघवाल ने इसकी शिकायत पुलिस और प्रशासन से की। जिसके बाद पुलिस सुरक्षा में उनकी बेटी की शादी पूरे रीति-रिवाज से बैंडबाजे के साथ संपन्न हुई। जिसका बात का बदला लेने के लिए दलितों के कुंए के पानी में केरोसिन डाल दिया गया।

Source:http://www.jansatta.com/rajya/madhya-pradesh/bhopal/goons-pour-kerosene-in-dalits-well-in-revenge-in-madhya-pradesh/311836/?utm_source=JansattaHP&utm_medium=referral&utm_campaign=jaroorpadhe_story

http://timesofindia.indiatimes.com/city/indore/dalits-well-polluted-with-kerosene-after-ignoring-upper-caste-diktat/articleshow/58438795.cms


No comments:

Post a Comment

For the comment section there will be no responsibility of Dalit Jagran. It is expected from users to have polite & soft discussion on this blog.